अब बदल जाएगा आपकी रोटी का स्वाद, कृषि वैज्ञानिकों ने विकसित की है गेहूं की अनोखी किस्म

कृषि वैज्ञानिकों ने गेहूं (Wheat) की एक खास और अनोखी किस्म विकसित की है. इस गेहूं के आटे से आपकी रोटी का स्वाद बदल जाएगा और वो कठोर नहीं बल्कि काफी नरम होगी. कृषि वैज्ञानिकों की यह सफलता देश के एक बड़े हिस्से के लिए लाभकारी साबित होगी, क्योंकि गेहूं के आटे से बनी रोटी प्रोटीन और कैलोरी का एक सस्ता और प्राथमिक स्रोत है. साथ ही, इसे उत्तर पश्चिम भारत में प्रमुखता से और देश के अन्य हिस्सों में भी बड़े चाव से खाया जाता है. शोधकर्ताओं ने बताया कि गेहूं की इस किस्म से नरम और मीठी चपाती बनती है. गेहूं की इस किस्म को ‘पीबीडब्ल्यू-1 चपाती’ कहा जाता है, जिसे पंजाब में राज्य स्तर पर सिंचित दशाओं में समय से बुवाई के लिए जारी किया गया है. गेहूं के इस किस्म की खेती (Farming) व्यवसायिक रूप से भी लाभकारी साबित होगी.

रोटी के लिए जरूरी गुणवत्ता व विशेषताओं में अधिक कोमलता, हवा से फुलने की क्षमता, नरम बनावट और हल्का मलाईदार भूरा रंग, थोड़ा चबाने पर पके हुए गेहूं की सुगंध शामिल हैं. दैनिक आहार का हिस्सा होने के बावजूद आधुनिक गेहूं की किस्मों में रोटी की गुणवत्ता के लक्षण नहीं होते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.